बिहार के बेगूसराय की शोभा ने स्वरोजगार की बनायीं नई मिसाल, ऐसे तय किया ₹400 से 75000 तक का सफर

woman business idea

Woman Business Idea: बिजनेस एक ऐसा फील्ड है , जहां ज्यादातर पुरुषों का वर्चस्व रहा है। लेकिन अब महिलाएं भी इस फील्ड में उतर कर सफलता की नई इबादत रच रही है और  अपने साथ-साथ और भी महिलाओं के लिए रोजगार के रास्ते खोल रही हैं। आज हम आपको बिहार की एक ऐसी ही महिला के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्होंने अपने घर पर ही खुद का काम शुरू कर अन्य महिलाओं एक सकारात्मक उदाहरण प्रस्तुत किया है।

हम बात कर रहे हैं, बिहार के बेगूसराय जिले की महेशपुर गांव की रहने वाली शोभा देवी के बारे में। आपको बता दें, सिर्फ ₹400 में मुर्गीपालन व्यवसाय शुरू करके आज वह सालाना लाखों रुपए कमा रही हैं। उन्होंने उन्होंने इस व्यवसाय में आने वाले खर्चों के लिए ऐसा जुगाड़ बनाया है। जो इसे सीख देखने के लिए लोग दूर-दूर से उनके पास आते हैं और उनके दिमाग की दाद देते हैं।

₹400 से शुरू हुआ सफर

अगर बात करें शोभा जी के सफर की तो , सरकार द्वारा ₹400 की सहायता मिलने के बाद उन्होंने तमाम कठिनाइयों के बाद भी अपने दृढ़ निश्चय से मुर्गी पालन का व्यवसाय शुरू किया। आपको बता दे, सरकार द्वारा इसके लिए सहायता और जानकारी प्रदान की जा रही है। 45 मुर्गा मुर्गियों से शुरुआत करके धीरे-धीरे उन्होंने काम को आगे बढ़ाया।

व्यवसाय को चलाने के लिए आवश्यक चीजों का उन्होंने खुद ही जुगाड़ करने की सोची। अपने घर के टूटे-फूटे गमलों की सहायता से उन्होंने मुर्गियों के भोजन की व्यवस्था की। अपने घर की ही छत पर उन्होंने मकई के पौधे लगा दिए।  जिससे मुर्गियों का भोजन की व्यवस्था हो जाती है। मुर्गियों के लिए भोजन में बाहर से खरीदना नहीं पड़ता है।

मुर्गियों के रहने के लिए दरबों  को भी शोभा देवी ने जुगाड़ से बना लिया। धीरे-धीरे उनका यह स्वरोजगार चल पड़ा। और आमदनी बढ़ने भी लगी।

कमाई का जरिया

मुर्गी पालन व्यवसाय में ज्यादातर अंडों की बिक्री ही कमाई का मुख्य जरिया होती है। लेकिन शोभा देवी ने नॉर्मल मुर्गी की जगह देसी मुर्गियों को पालन शुरू किया। जिनके अंडो की कीमत बाजार में साधारण अंडों से काफी ज्यादा होती है। साधारण मुर्गी का एक अंडा 8 या ₹9 में बिकता हैं, जबकि देसी मुर्गी के अंडा ₹25 तक में बिक जाता है।

इसके अलावा वे  मुर्गी से चूसे खुद तैयार करती है। और मुर्गों को मीट के रूप में बेचती  हैं। इस समय उनके पोल्ट्री फार्म में कड़कनाथ, सोनाली और एफएफजी जैसी प्रजाति के मुर्गियां को पाला जा रहा है। जिनकी प्रतिरोधक क्षमता और अंडे देने की क्षमता भी अन्य मुर्गियों से ज्यादा होती हैं। जो उन्हें ज्यादा मुनाफा दे रही  हैं।

कमा लेती हैं 75000 महीना

अपने इस काम से ₹400 से शुरू करके शोभा देवी आज 75000 महीना कमा रही है। शुरुआत में 45 मुर्गियों से शुरू करके उनके फार्म में साथ से अधिक मुर्गियां हो गई है। जिसे हो डेली 300 से 500 एंड प्राप्त करके लगभग ढाई हजार डेली का मुनाफा कमाती है। उनको देखकर आसपास की महिलाएं भी आत्मविश्वास के साथ अपना काम शुरू करने के लिए प्रेरित हो रही  हैं।