बिहार का सोनू मैट्रिक में हुआ फैल, जूता फैक्ट्री में किया काम, बना डाला लाखों का बिजनेस

Vikas Kumar
matric fail onu started business with turnover in lakhs
बिहार का सोनू मैट्रिक में हुआ फैल, जूता फैक्ट्री में किया काम, बना डाला लाखों का बिजनेस

होनहार बिरवान के होत चीकने पात! कुछ ऐसा ही हुआ बिहार के सोनू के साथ। सफलता किसी परीक्षा या कागजी सर्टिफिकेट की मोहताज नहीं होती है। ऐसा हम नहीं इस 22 वर्षीया युवा की काबिलियत बयान कर रही है।

दरअसल सोनू बिहार बोर्ड की मैट्रिक परीक्षा में फैल हो गया था, लेकिन उसने हार नहीं मानी और दुबारा पढाई को न चुनकर उसने बिजनेस करने की ठानी और आज उसका परिणाम सबके सामने है।

मैट्रिक में फैल हुआ तो पैशन को किया फॉलो

आज के समय में आपने कई ऐसे युवाओं को देखा होगा जिनका मन पढाई में बिलकुल भी लगता होगा। लेकिन उनमें से कुछ गिने चुने ही लोग होते है जो अपना पैशन फॉलो कर पाते है और उसमें एक कामयाब मुकाम हासिल कर पाते है।

Sonu company has annual turnover in lakhs
बिहार के सोनू की कंपनी का सलाना लाखों में टर्नओवर

इस पोस्ट के जरिए आज हम आपको एक ऐसे ही लड़के के सक्सेस स्टोरी के बारे में बताने जाए रहे है जिसने दसवीं की बोर्ड परीक्षा में असफल होने के बाद भी अपने पैशन को फॉलो करना बेहतर समझा ना कि पढ़ाई।

सोनू की कंपनी का सलाना लाखों में टर्नओवर

बिहार के रहने वाले सोनू ने 13 महीने पहले अपनी एक नै कंपनी खोली थी। आज सोनू की उस कंपनी का सलाना टर्नओवर लगभग 25 लाख रुपए का हो चूका है। News18 से बातचीत के दौरान सोनू ने बताया कि अगले साल तक यह टर्नओवर 50 लाख रुपए तक पहुँच जाएगा।

आपको बता दे की वर्ष 2016 की मैट्रिक परीक्षा में सोनू फेल हो गया था। उस समय परिवार की आर्थिक स्थिति कुछ ख़ास ठीक नहीं थी। जिस वजह से वह ठीक तरीके से पढ़ाई नहीं कर पाया।

सोनू कर रहा स्नातक की पढाई

आज अपने बिजनेस में एक सफल मुकाम पाने के बाद सोनू मैट्रिक के अलावा इंटरमीडिएट की परीक्षा भी पास कर चूका है। और यहीं नहीं फिलहाल वह स्नातक की पढाई भी कर रहा हैं।

सोनू के बनाए नोटबुक की खूब है डिमांड

Notebook made by Sonu is in demand in many cities of the country
सोनू के बनाए नोटबुक की देश के कई शहरों में डिमांड

मैट्रिक बोर्ड परीक्षा में फैल होने वाला सोनू ने अपने घर में ही कंपनी खोल दी। उन्होंने बुक बाइंडिंग और नोटबुक बनाने की कंपनी शुरू की थी। जिससे आज सोनू महीने का लाखों रुपए कमा रहा है।

वह अपने घर पर ही नोटबुक्स तैयार करता है और देश के कई शहरों में अपने नोटबुक की सप्लाई करता है। सोनू के बनाए नोटबुक बंगाल, यूपी और महाराष्ट्र के साथ-साथ बिहार के कई जिलों में खूब बिक रही है।

और पढ़ें: BPSC Success Story : आंगनबाड़ी सेविका बेटे ने बीएससी में लहराया परचम, बन गया अफसर

और पढ़ें: बिहार में इलेक्ट्रिक गाड़ी खरीदने पर 75% तक की छूट, 1.50 लाख रूपए तक की सब्सिडी


WhatsApp Group 👉
Join Now
Telegram Group 👉 Join Now
Share This Article
Follow:
I am Vikash Sah, seasoned blogger, SEO expert, and content writer with 5+ years of experience. Specializes in writing on various topics like Education, Jobs, Government Schemes, Travel, and Blogging. Join me on an informative journey.