Weather Forecast: भारत में इस साल पड़ेगी ज्यादा गर्मी, लंबा चलेगा हीटवेव

imd weather forecast on heatwave in India

गर्मी का मौसम शुरू हो चूका है और इसी बीच भारत के मौसम विज्ञान विभाग (IMD) की ओर से इस से सबंधित जरुरी सुचना जारी की गई है।

IMD के रिपोर्ट के अनुसार इस साल ज्यादा गर्मी (Weather Update) पड़ने का अनुमान लगाया गया है। इसके साथ ही 20 दिनों के लंबे हीटवेव (Heat Wave) की संभावना भी जताई गई है। जो की सामान्य तौर पर 8 दिनों का होता है।

अप्रैल से जून के बीच सबसे ज्यादा तापमान

मौसम विभाग के अनुसार इस बार हिंदुस्तान में अप्रैल से जून 2024 के बीच तीन महीने तक तापमान ज्यादा बना रहेगा।

IMD की माने तो, अगले 3 महीनों में भारत के 6 राज्यों मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक, ओडिशा और आंध्र प्रदेश में गर्मी का सबसे ज्यादा असर देखने को मिलेगा।

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के डायरेक्टर जनरल मृत्युंजय महापात्रा (Mrutyunjay Mohapatra) ने हाल ही में वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए इस बात की जानकारी शेयर की है।

अधिकतम तापमान सामान्य से ऊपर रहने की संभावना

महापात्रा के अनुसार, अप्रैल से जून 2024 के दरमियान भारत के अधिकांश हिस्सों में अधिकतम तापमान सामान्य से ऊपर बने रहने की संभावना है। जबकि मैदानी इलाकों के अधिकांश हिस्सों में सामान्य से अधिक लू चलेगी।

मृत्युंजय महापात्रा के अनुसार देश के अधिकतर हिस्सों में अधिकतम तापमान सामान्य से अधिक रहने और मध्य, पश्चिमी प्रायद्वीपीय भारत में इसका सबसे बुरा असर पड़ने का अनुमान है।

10 से 20 दिन तक लू चलने का अनुमान

उन्होंने कहा कि – “पश्चिमी हिमालय क्षेत्र, पूर्वोत्तर राज्यों और उत्तरी ओडिशा के कुछ हिस्सों में अधिकतम तापमान के सामान्य या सामान्य से नीचे रहने की संभावना है।”

इस अवधि के दौरान मैदानी इलाकों के ज्यादातर हिस्सों में सामान्य से अधिक गर्म हवा चलने की संभावना है। देश के विभिन्न हिस्सों में अमूमन 4 से 8 दिनों की तुलना में 10 से 20 दिन तक लू चलने का अनुमान है। IMD के डायरेक्टर जनरल ने कहा कि गुजरात, मध्य महाराष्ट्र, उत्तरी कर्नाटक, राजस्थान, मध्य प्रदेश, ओडिशा, उत्तरी छत्तीसगढ़ और आंध्र प्रदेश में गर्मी का सबसे बुरा असर पड़ सकता है। – मृत्युंजय महापात्रा

औसत बारिश सामान्य होने की संभावना

वहीँ मौसम विभाग की माने तो, देश भर में अप्रैल 2024 के दौरान औसत बारिश सामान्य (एलपीए का 88-112 फीसदी) होने की संभावना है।

उत्तर पश्चिम भारत के अधिकांश हिस्सों और मध्य भारत के कई हिस्सों, उत्तरी प्रायद्वीपीय भारत, पूर्व और उत्तर पूर्व भारत के कुछ हिस्सों में सामान्य से अधिक बारिश होने की संभावना है।

जबकि पूर्वी और पश्चिमी तटों, पूर्वी और पूर्वोत्तर भारत के कुछ हिस्सों और पश्चिम मध्य भारत में सामान्य से कम बारिश होने की आशंका जताई है।

और पढ़ें: यह है सबसे बेस्ट फ़ूड गर्मी में खाने के लिए, सेहत रहेगा तंदरुस्त

और पढ़ें: Arun Govil Net Worth: टेलीविजन के राम है इतने धनवान, चुनावी पर्चे में बताया अपनी संपत्ति का राज