Patna Metro Project: पटना में अंडरग्राउंड टनल के दूसरे चरण की शुरू हुई खुदाई, बिहार सरकार ने दिए नए 100 करोड़ रूपए

Excavation of second phase of underground tunnel started in Patna

बिहार की बहुप्रतीक्षित पटना मेट्रो प्रोजेक्ट से जुड़ी अहम खबर सामने आई है। दरअसल पटना मेट्रो के अंडरग्राउंड टनल के दूसरे फेज की खुदाई का काम शुरू किया जा चूका है।

इसके साथ-साथ बिहार सरकार ने पटना मेट्रो के निर्माण के लिए 100 करोड़ रुपए की नई राशि की निकासी की स्वीकृति भी दे दी है। आईये जानते है पटना मेट्रो प्रोजेक्ट को लेकर लेटेस्ट अपडेट क्या है?

पटना में अंडरग्राउंड टनल के दूसरे चरण की खुदाई शुरू

दरअसल बिहार की राजधानी पटना में मोइन उल हक स्टेडियम के बाद अब गांधी मैदान से आकाशवाणी के बीच भूमिगत मेट्रो लाइन के लिए खुदाई शुरू कर दी गई है।

इसके अलावा बिहार म्यूजियम को पटना म्यूजियम से जोड़ने वाले करीब डेढ़ किमी लंबे अंडरग्राउंड टनल के निर्माण के लिए भी एजेंसी का चयन किया जा चूका है। इसका निर्माण कार्य भी जल्द ही शुरू कर दिया जाएगा।

टीबीएम लेगी करीब 5 से 7 महीने का समय

वहीँ गांधी मैदान से आकाशवाणी के बीच मेट्रो लाइन के लिए टीबीएम (टनल बोरिंग मशीन) से भूमिगत खुदाई का काम शुरू कर दिया गया है। अक्टूबर माह में ही खुदाई के लिए गांधी मैदान के समीप दो टनल बोरिंग मशीन (टीबीएम) लोअर की गयी थी।

जिसमें से एक ने खुदाई का काम शुरू कर दिया है। दूसरी टीबीएम को पूरी तरह तैयार किया जा रहा है और यह भी जल्द खुदाई शुरू कर देगी। गांधी मैदान से आकाशवाणी स्टेशन तक 966 मीटर की दूरी को तय करने में टीबीएम करीब 5 से 7 महीने का समय ले सकती है।

बिहार सरकार ने दिए नए 100 करोड़ रूपए

नगर विकास एवं आवास विभाग ने पटना मेट्रो रेल परियोजना के क्रियान्वयन को लेकर निवेश मद में 100 करोड़ रूपए और उपलब्ध करने की घोषणा कर दी है। इसके साथ ही रुपये की निकासी की भी स्वीकृति प्रदान कर दी गई है।

बिहार सरकार ने विभिन्न स्वीकृत आदेशों के माध्यम से अब तक निवेश मद में कुल 1012.50 करोड़ रुपये की निकासी कर पटना मेट्रो रेल कॉरपोरेशन को उपलब्ध करवा दिया है।

एलएंडटी को मिली अंडरग्राउंड सब वे निर्माण की जिम्मेदारी

आपको बता दे की बिहार म्यूजियम को पटना म्यूजियम से जोड़ने वाले लगभग डेढ़ किमी लंबे अंडरग्राउंड सब वे का निर्माण कार्य भी जल्द शुरू हो जाएगा।

नोडल एजेंसी दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने इस विरासत सुरंग के निर्माण को लेकर एजेंसी का चयन भी कर दिया है। इसके निर्माण की जिम्मेदारी कंस्ट्रक्शन कंपनी एलएंडटी को मिली है। रिपोर्ट्स के अनुसार वर्क ऑर्डर मिलते ही कंपनी काम शुरू कर देगी।

मालूम हो की बेली रोड के नीचे से गुजरने वाली इस सुरंग का काम 30 महीने के अंदर कम्प्लीट किया जाना है। जहाँ पहले इस प्रोजेक्ट के ऊपर 373 करोड़ रुपये का खर्च अनुमानित था, जो अब बढ़ कर 542 करोड़ रुपये हो चूका है।

पटना मेट्रो प्रोजेक्ट पूरा होने में लगेगा 2 वर्ष से भी अधिक समय

Patna metro project will take more than 2 years to complete
पटना मेट्रो प्रोजेक्ट पूरा होने में लगेगा 2 वर्ष से भी अधिक समय

गौरतलब है की पटना मेट्रो प्रोजेक्ट पूरा होने में अभी 2 वर्ष से भी अधिक समय लगेगा। फिलहाल एक दिन में बंच केबल स्लैब बनाने में सिर्फ 10 मीटर गड्ढा ही हो पा रहा है। निर्माण कंपनियों का कहना है कि – “मिट्टी सख्त होने की वजह से ऐसी परेशानी हो रही है।”

प्राप्त जानकारी के मुताबिक पटना में मेट्रो प्रोजेक्ट के लिए चिड़ियाघर, विद्युत भवन, बुद्धा कॉलोनी, रूपसपुर, खाजपुरा, राजाबाजार में अंडरग्राउंड केबलिंग का काम किया जाना है।

वहीं, आनंद बाजार, दानापुर, सगुना मोड़ में ओवरहेड केबलिंग की जाएगी। राजेंद्र नगर से मलाही पकड़ी, पटना जंक्शन से मीठापुर बस स्टैंड, गांधी मैदान से अशाेक राजपथ में जल्द काम शुरू किया जाना है।

और पढ़े: Bihar E-Sports: बिहार में पहली बार ई- स्पोर्ट्स ओपन चैंपियनशिप का आयोजन, चेस और BGMI जैसे गेम्स में दिखाए अपना टैलेंट

और पढ़े: बिहार को मिलेगी एक और वन्दे भारत एक्सप्रेस, कटिहार-किशनगंज समेत सीमांचल का सफर होगा आसान, जानिए क्या है रूट?