BSEB 10th Topper 2024: बिहार बोर्ड मैट्रिक टॉपर बने शिवांकर, NDA में जाने का है सपना

BSEB 10th Topper 2024 Shivankar

बिहार में 10वीं बोर्ड परीक्षा का रिजल्ट जारी हो चूका है। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (BSEB) ने 10वीं कक्षा की वार्षिक परीक्षा का रिजल्ट 31 मार्च 2024 को प्रकाशित कर दिया है।

इस बार पूर्णिया जिला स्कूल के छात्र शिवांकर कुमार बिहार बोर्ड मैट्रिक टॉपर बने है। उन्होंने 489 मार्क्स हासिल करके पुरे राज्य में पहला स्थान प्राप्त किया है। आईये जानते है उसके बारे में।

बिहार बोर्ड मैट्रिक टॉपर बने शिवांकर

बिहार बोर्ड मैट्रिक रिजल्ट 2024 में 82.91 फीसदी विद्यार्थियों ने सफलता अर्जित की है। जिसमें इस बार पूर्णिया जिले के रहने वाले शिवांकर कुमार ने स्टेट टॉप किया है।

शिवांकर ने कुल 500 अंकों में से 489 अंक हासिल किए है। रिजल्ट जारी होते ही उनके घर पर बधाई देने वाले लोगों को तांता लग गया। अपने पुत्र की उपलब्धि पर उनके माता पिता भी काफी खुश नजर आए।

NDA में जाने का है सपना

बिहार बोर्ड मैट्रिक टॉपर 2024 शिवांकर कुमार पूर्णिया के जिला स्कूल के स्टूडेंट है। उनके पिता संजय विश्वास एक प्राइवेट स्कूल में सहायक शिक्षक हैं। जबकि माता कुमकुम देवी घर पर ही सिलाई का काम करती हैं।

रिजल्ट के बाद से शिवांकर काफी खुश हैं। शिवांकर का सपना एनडीए में जाने का है। वो NDA की परीक्षा पास कर देश की सेवा करना चाहते हैं।

इनको दिया अपनी सफलता का श्रेय

Bihar Board 10th Topper List 2024 में पहला स्थान प्राप्त करने वाले शिवांकर ने अपनी कामयाबी का श्रेय अपने माता-पिता के साथ-साथ अपने स्कूल के शिक्षकों को भी दिया है।

पढ़ने का नहीं था कोई निश्चित समय

मीडिया से बात करते हुए शिवांकर ने कहा कि वह हमेशा से कुछ करना चाहते थे। उन्होंने कहा कि – “मेरे पढ़ने का कोई निश्चित समय नहीं था। लेकिन जो भी पढ़ा, समझकर पढ़ा।”

आगे उन्होंने कहा कि – “स्कूल में टीचर जो बताते थे वो उसे नोट कर लेते थे और घर जाकर दिए गए प्रश्नों का अभ्यास करते थे। सिलेबस को सही समय पर खत्म करना मेरे लिए सबसे जरूरी था।”

बचपन से ही पढ़ाई में मेधावी थे शिवांकर

रिजल्ट आने के बाद शिवांकर के घर में खुशी का माहौल है। बधाई देने वाले लोगों का तांता लगा हुआ है। शिवांकर के पिता संजय विश्वास कहते हैं कि – “शिवांकर बचपन से ही पढ़ाई में मेधावी था।

इसलिए मेरी हमेशा से यही कोशिश रही है कि पढ़ाई में किसी भी तरह की कोई कमी न रहे। घर में हमेशा पढ़ाई के लिए अनुकूल माहौल बना रहे। वह एनडीए में शामिल होना चाहते हैं।”

और पढ़ें: बिहार बोर्ड की मैट्रिक परीक्षा में नहीं मिली सफलता, तो ना हो निराश, अभी भी है पास होने का एक और मौका

और पढ़ें: बिहार में अतिथि शिक्षकों की सेवा समाप्त, अचानक हो जाएंगे बेरोजगार